होम
पञ्चाङ्ग
कैलेण्डर
मुहूर्त
व्रत एवँम उपवास
त्यौहार
ज्योतिष
नवग्रह इन्फो
गीतकाव्य
गैलरी
अन्य
बन्द करें
दीवाली पूजा कैलेण्डर📈📉 शेयर बाजार व्यापार विमर्श📈📉 वस्तु बाजार मासिक रुझान
मेष
वृषभ
मिथुन
कर्क
सिंह
कन्या
तुला
वृश्चिक
धनु
मकर
कुम्भ
मीन

2019 शारदीय नवरात्रि कैलेण्डर नई दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, इण्डिया के लिए

2019 शारदीय नवरात्रि के दिन
चैत्र नवरात्रि कैलेण्डर
देवी दुर्गा का आगमन हाथी पर
देवी दुर्गा का प्रस्थान चरणायुध पर
१२ घण्टा२४ घण्टा२४ प्लस
नवरात्रि का दिन 1

नवरात्रि का दिन 1

नवरात्रि का दिन 2

नवरात्रि का दिन 2

नवरात्रि का दिन 3

नवरात्रि का दिन 3

नवरात्रि का दिन 4

नवरात्रि का दिन 4

नवरात्रि का दिन 5

नवरात्रि का दिन 5

नवरात्रि का दिन 6

नवरात्रि का दिन 6

नवरात्रि का दिन 7

नवरात्रि का दिन 7

नवरात्रि का दिन 8

नवरात्रि का दिन 8

6th
अक्टूबर 2019
Sunday / रविवार
8
अष्टमी
सन्धि पूजा प्रारम्भ 10:30 ए एम पर
सन्धि पूजा समाप्त 11:18 ए एम पर
दुर्गा अष्टमी के दिन का पञ्चाङ्गआज का नवरात्रि रँग - बैंगनी
नवरात्रि का दिन 9

नवरात्रि का दिन 9

नवरात्रि का दिन 10

नवरात्रि का दिन 10

टिप्पणी: सभी समय १२-घण्टा प्रारूप में नई दिल्ली, इण्डिया के स्थानीय समय और डी.एस.टी समायोजित (यदि मान्य है) के साथ दर्शाये गए हैं।
आधी रात के बाद के समय जो आगामि दिन के समय को दर्शाते हैं, आगामि दिन से प्रत्यय कर दर्शाये गए हैं। पञ्चाङ्ग में दिन सूर्योदय से शुरू होता है और पूर्व दिन सूर्योदय के साथ ही समाप्त हो जाता है।

2019 शारदीय नवरात्रि

शारदीय नवरात्रि सभी नवरात्रियों में सबसे अधिक लोकप्रिय एवं महत्वपूर्ण नवरात्रि है। इसीलिए शारदीय नवरात्रि को महा नवरात्रि के नाम से भी जाना जाता है।

शारदीय नवरात्रि चन्द्र मास अश्विन में शरद ऋतु के समय आती है। शरद ऋतु में आने के कारण इन्हें शारदीय नवरात्रि कहा जाता है। नवरात्रि के नौ दिन देवी आदि शक्ति के नौ रूपों को समर्पित होते हैं। शारदीय नवरात्रि सितम्बर अथवा अक्टूबर माह में पड़ती है। शारदीय नवरात्रि के इस नौ दिवसीय उत्सव का समापन दसवें दिन दशहरा को होता है, जिसे विजयादशमी भी कहते हैं।

नवरात्रि के नौ दिनों के अनुसार, विशेष रूप से महाराष्ट्र और गुजरात में, स्त्रियाँ नौ अलग-अलग रँगों के वस्त्र पहनती हैं। यह रँग सप्ताह के दिन के आधार पर तय किया जाता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार सप्ताह का प्रत्येक दिन एक ग्रह या नवग्रह द्वारा शासित होता है। इसलिए स्वामी ग्रह के अनुसार प्रत्येक दिन का एक निश्चित रँग निर्धारित होता है।

नवदुर्गा के प्रत्येक स्वरूप को एक विशिष्ट प्रसाद अर्पित करने का प्रचलन है। देवी दुर्गा का प्रत्येक अवतार अपने आप में विशेष एवं विलक्षण है। उनके विभिन्न स्वरूपों के अनुसार नवरात्रि में विशेष भोग-प्रसाद अर्पित किया जाता है।

अधिक जानकारी के लिए आप महा नवरात्रि के दौरान दुर्गा पूजा कैलेण्डर भी देख सकते हैं।

2020 में शारदीय नवरात्रि
कॉपीराइट नोटिस
सभी छवियाँ और डेटा - कॉपीराइट
Ⓒ www.drikpanchang.com
प्राइवेसी पॉलिसी